मुंबई इंडियंस ने पुणे को हैदराबाद राजीव गांधी क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए आईपीएल-10 के रोमांचक फाइनल मुकाबले में 1 रन से रोमांचक जीत दर्ज कर आईपीएल का खिताब तीसरी बार अपने नाम कर लिया। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई ने निर्धारित 20 ओवर में 129 रन बनाए। पहली पारी के बाद ऐसा लग रहा था था कि पुणे आसानी से मैच में जीत हासिल कर लेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

स्टीव स्मिथ के शानदार अर्धशतक की बदौलत पुणे जीत के मुहाने तक पहुंची। स्टीव के आउट होते ही मुंबई ने मैच पुणे के हाथ से निकल गया। पुणे 20 ओवर में 6 विकेट गंवाकर केवल 128 रन बना पाई, अंतिम ओवर में मिचेल जॉनसन ने 9 रन देकर 2 विकेट हासिल किए। आखिरी ओवर में जीत के लिए पुणे को 11 रन की दरकार थी। स्ट्राइक पर मनोज तिवारी थे। लगातार दो गेंद पर मिचेल ने मनोज तिवारी और स्टीव स्मिथ को आउट कर मैच को मुंबई के पाले में डाल दिया।

अंत में डेनियल क्रिस्टन और वाशिंगटन सुंदर की जोड़ी 3 गेंद में केवल 5 रन बना सकी और मुंबई को 1 रन से जीत हासिल हुई। आईपीएल 10 में खिताबी जीत के लिए 130 रन के लक्ष्य का पीछा करने पुणे की तरफ से अजिंक्य रहाणे और राहुल त्रिपाठी की जोड़ी उतरी।

इस जोड़ी ने पहले 2 ओवर में बिना कोई विकेट खोए 14 रन बना लिए। इसके बाद तीसरे ओवर की चौथी गेंद पर राहुल त्रिपाठी को अंपायर ने बुमराह की गेंद पर एलबीडब्ल्यू करार दिया। रीप्ले में पता चला कि गेंद ऊंची थी, राहुल ने 3 रन बनाए। इसके बाद दूसरे विकेट के लिए रहाणे और स्टीव स्मिथ के बीच 54 रन की साझेदारी हुई। रहाणे 44 रन बनाकर जॉनसन की गेंद पर पोलार्ड को कैच दे बैठे। पुणे ने बल्लेबाजी क्रम में बदलाव करके मनोज तिवारी से पहले धोनी को भेजा।

धोनी और स्मिथ के बीच तीसरे विकेट के लिए 27 जोड़े। 17वें ओवर की दूसरी गेंद पर धोनी बुमराह की गेंद को कट करने के प्रयास में विकेट कीपर पार्थिव को कैच दे बैठे, धोनी ने 10 रन बनाए। खिताबी मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई की टीम ने पुणे की शानदार गेंदबाजी के आगे घुटने टेक दिए। निर्धारित 20 ओवर में मुंबई 8 विकेट खोकर केवल 129 रन बना सकी।